Read in Hindi

HISTORY & DEVELOPMENT

निर्माणी के ऐतिहासिक मुख्‍य पडाव तथा विकास के सोपान इस प्रकार है – The historical Land marks and development of the factory are as follows:

 

1801 : भूमि का अधिग्रहण निर्माणी हेतु / Land procured to build the factory
1802:(18 मार्च ) तोप गाडी एजेंसी के रुप में स्‍थापित (तोप गाडी की मरम्‍मत तथा विनिर्माण हेतु) / (18thMarch) Established Gun Carriage Agency for manufacture and repair of Gun carriages.
1830: फोर्ट विलियम से गन फाउन्‍ड्री का स्‍थानांतरण तथा तोप गाडी एजेन्‍सी का उच्‍छेदन एवं निर्माणी का गन फाउन्‍ड्री के रुप में पुन नामकरण / Shifting of Gun Foundry from Fort William and abolition of Gun Carriage Agency and renaming the factory as Gun  Foundry.
1832 : बैल चालित मशीनो से वाष्‍प चालित मशीनो में परिवर्तन / Change over from Bullock Driven machines to Steam Driven Machines.
1840 : पीतल तथा लौह दोनो प्रकार की तोपों के उत्‍पादन की स्‍थापना / Production of both Brass and Iron Guns Established.
1872 : शेल उत्‍पादन की स्‍थापना तथा फाउन्‍ड्री एवं शेल निर्माणी के रूप में पुन नामकरण/ Establishment of Shell Production & renaming as Foundry & Shell Factory
1880 : फयूज अनुभाग की स्‍थापना / Establishment of Fuze Section.
1892 : भारत में पहली बार भारी मात्रा में गुणतायुक्‍त इस्‍पात का उत्‍पादन आरंभ / Quality Steel production in bulk started first time in India.
1896 : रोलिंग मिल की स्‍थापना / Establishment of Rolling Mill.
1905 : रोलिंग मिल तथा फर्नेस का ईशापुर में स्‍थानांतरण । तोप एवं गोला निर्माणी के रूप में पुन नामकरण / Shifting Furnaces and Rolling Mill to Ishapore. Renaming as Gun & Shell Factory.
1908 : वाष्‍प चालित मशीनों से विदधुत चालित मशीनों में परिवर्तन / Changeover from Steam to Electricity driven machinery
1927 : प्रशिक्षुता योजना का शुभारंभ / Apprentice Scheme started.
1939 : द्वितीय विश्‍वयुदध प्रारंभ दमदम कर्मशाला का तोप एवं गोला निर्माणी , काशीपुर में विलय / Outbreak of World War II; Annexing of Dum Dum Workshop to Gun & Shell Factory, Cossipore.
1958 : ट्रैक्‍टर परियोजना का शुभारंभ / Tractor Project started.
1962 : विमान भेदी तोपों का उत्‍पादन प्रारंभ / Production of Anti Aircraft Guns started.
1964 : दमदम आयुध निर्माणी एक स्‍वतंत्र इकाई के रूप में स्‍थापित हुई / Dum Dum was setup as an independent unit.
1965 : ट्रैक्‍टर परियोजना बी ई एम एल को हस्‍तांतरित / Tractor Project transferred to BEML.
1998 : 23 एम एम प्रेशर बैरल , 30 एम एम बैलिस्टिक बैरल , 9 एम एम सब कैलिबर बैरल तथा ए के 630 गन कंपोनेंटस (नौ सेना ) के उत्‍पादों की स्‍थापना / Establishment of 23 mm Pressure Barrel, 30 mm Ballistic Barrel, 9 mm Sub Caliber Barrel and AK-230 GunComponents (Naval).
1999 : 12.7 मिमी एयर डिफेन्‍स गन तथा 0.32 “ पिस्‍तौल के उत्‍पादन की स्‍थापना / Establishment of 12.7 mm Air Defence Gun & 0.32? Pistol.
2002 : निर्माणी के 200 वर्ष पूर्ण , आयुध निर्माणी संगठन में आई एस ओ 9001-2000 प्रमाण पत्र प्राप्‍त करने वाली प्रथम निर्माणी / Completion of 200 years of Factory, The first Factory within the Ordnance organisation to get ISO 9001-2000 certification.
2003 : 30 एम एम एच ई टी शेल , 51 एम एम मोर्टार के उत्‍पादन की स्‍थापना / Establishment of production of Shell 30mm. HE/T, 51 mm  Mortar.
2004 : 81 एम एम एच ई बम , 51 एम एम एच ई बम एवं 40 एम एम पी एफ एफ सी शेल के उत्‍पादन की स्‍थापना । / Establishment of production of Bomb 81 mm HE, Bomb 51 mm  HE and 40mm. PFFC Shell .

 

PAN Number

Password

Please enter security code
Forget Password
New User Registration
 

National Portal

www.india.gov.in

Ministry of defence

www.mod.nic.in

Indian Ordnance Factory Board

www.ofbindia.gov.in